जब कोर्ट में हाज़िर हुए खुद भगवान श्री कृष्ण

0
312

कई बार लोगों को कहते हुए सुना होगा कि भगवान बचाए कोर्ट कचहरी के चक्कर से.लेकिन कैसा होगा जब भगवान को खुद कोर्ट जाकर अपनी हाजरी लगानी पड़ी.साथ ही सुनवाई के दौरान भगवान कोर्ट में मौजुद रहे.खबर श्री कृष्ण जन्मभूमि मथुरा की जहां मथुरा में बीते मंगलवार को सीनियर डिविजन कोर्ट में श्री कृष्ण जन्म भूमि और शाही मस्जिद ईदगाह मामले की सुनवाई हुई.कोर्ट में सिक्स सी और सर्वे रिपोर्ट पर दोनो पक्षों के बीच बहस हुई.

याचिकाकर्ता श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति निर्माण ट्रस्ट पक्ष के द्वारा कोर्ट में गुहार लगाई गई है कि जिस तरह से शाही ईदगाह में बिजली चोरी का खुलासा हुआ है. ऐसे ही ये लोग वहां से हिंदू प्रतीक चिन्हों को हटाने का काम कर रहे है जिससे ये लगता है की ये वहां कुछ भी कर सकते है तो हमारी मांग है की तुरंत सर्वे कराकर शाही ईदगाह मस्जिद को हटाकर हमारी यानी केशव देव भगवान की 13,37 एकड़ जमीन भगवान श्री कृष्ण जन्मस्थान को सौंपी जाए ।

Read Also:विवादों के बीच मद्रास हाईकोर्ट की जज बनीं विक्टोरिया गौरी

कोर्ट में भगवान की मूर्ति लाने की वजह जब पूछी गई तो याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया कि भगवान केशव देव की मूर्ति को कोर्ट में इसलिए लेकर आए है क्योकिं कोर्ट में हुई 23 जनवरी की सुनवाई में वादी नंबर छः यानी केशवदेव महाराज को कोर्ट में गैर हाजिर बताया गया था . इसलिए मुख्य रूप से श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्ति निर्माण ट्रस्ट मथुरा द्वारा केशवदेब भगवान को कोर्ट में उपस्थित किया गया जिसे कोर्ट ने उपस्थित मानते हुए अब आगे से इन्हे कोर्ट में नही आने को कहा गया है.इस मामले पर अगली सुनवाई 23 फरवरी को होगी.

Also Read:6 भारतीय वकील NISAU India-UK Achievers Award से सम्मानित

आपको बता दें यह पहला मामला नहीं है जब भगवान को कोर्ट जाना पड़ा हो. इससे पहले भी राम भक्त हनुमान कोर्ट जा चुके हैं. दरअसल,अष्टधातु से निर्मित बेशकीमती हनुमान जी की मूर्ति को 17 अक्टूबर 1992 में चोरों ने भोजपुर के पंडोरा गांव के एक मंदिर से चुरा लिया था. इसके बाद गुप्त सूचना के आधार पर कुछ महीने बाद ही सीबीआई ने हनुमान जी को बरामद कर लिया था और सीबीआई ने इस मामले के तीसरे गवाह पंकज कुमार की गवाही के दौरान मूर्ति को विशेष न्यायिक दंडाधिकारी अनंत कुमार की अदालत में सबूत के तौर पर पेश किया था.

Bhawna
Bhawna

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here